FMC और SEBI का हुआ मर्जर कमोडि‍टी ब्रोकर आएंगे सेबी के दायरे में

FMC और SEBI का हुआ मर्जर कमोडि‍टी ब्रोकर आएंगे सेबी के दायरे में

FMC और SEBI - न्यूज़ अपडेट 29 सेप्टेंबर 2015

60 साल पुराने कमोडि‍टीज रेग्‍युलेटरी बॉडी एफएमसी (फॉरवर्ड मार्केट कमीशन) का मर्जर सोमवार को कैपि‍टल मार्केट वाचडॉग सेबी के साथ हो गया है। दो रेग्‍युलेटरी बॉडी के मर्जर का देश में यह पहला मामला है। केंद्रीय वि‍त्‍त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को स्‍टॉक मार्केट में बेल बजाकर इस मर्जर की आधिकारि‍क घोषणा की।

सि‍क्‍युरि‍टीज एंड एक्‍सचेंज बोर्ड ऑफ इंडि‍या (सेबी) के चेयरमैन यूके सि‍न्‍हा ने कहा कि‍ कमोडि‍टीज मार्केट कंपि‍नयों को नए रेग्‍युलेशन के तहत प्रावधानों को पूरा करने के लि‍ए एक साल का समय दि‍या गया है। उन्‍होंने कहा कि‍ इसके बाद कमोडि‍टी ब्रोकर्स पर अब शेयर बाजार के ब्रोकर्स के समान ही नि‍यम लागू होंगे।

इकोनॉमी ग्रोथ को मि‍लेगा बढ़ावा

वि‍त्‍त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि‍ सेबी और एफएमसी के मर्जर का उद्देश्‍य बॉर्डरलेस मार्केट की चुनौति‍यों का सामना करना है। उन्‍होंने कहा कि‍ इस मर्जर से देश की इकोनॉमी की ग्रोथ को और रफ्तार मि‍लेगी, क्‍योंकि‍ 6-8 फीसदी इकोनॉमि‍क ग्रोथ से अभी हम संतुष्‍ट नहीं हैं। यह समय भारत के लि‍ए बहुत महत्‍वपूर्ण है इसलि‍ए हम भारतीय इकोनॉमी की क्षमताओं का पूरा उपयोग करना चाहते हैं। ओर पढ़े 

Comment Here

Leave a Reply