भारत दुनिया का सातवां सबसे मूल्यवान नेशन ब्रांड

india_value_brand_01_11_2015भारत एक पायदान ऊपर चढ़कर दुनिया का सातवां सबसे मूल्यवान “नेशन ब्रांड” बन गया है। राष्ट्र के रूप में उसकी ब्रांड वैल्यू में 32 फीसद की जोरदार बढ़ोतरी हुई है। यह वैल्यू 2.1 अरब डॉलर (तकरीबन 13,650 करोड़ रुपये) पर पहुंच गई है। पिछले साल भारत आठवें नंबर पर था। ब्रांड फाइनेंस की ओर से तैयार सबसे मूल्यवान नेशन ब्रांडों की इस सूची में अमेरिका शीर्ष पर है।

उसकी ब्रांड वैल्यू 19.7 अरब डॉलर (करीब 1,28,000 करोड़ रुपये) आंकी गई। राष्ट्र की यह वैल्यू हर देश में सभी ब्रांडों की पांच साला बिक्री के अनुमान पर तय होती है। अमेरिका के बाद चीन दूसरे और जर्मनी तीसरे स्थान पर है। इस सूची में भारत के अलावा फ्रांस भी पिछले साल की तुलना में एक पायदान ऊपर चढ़ा है। शीर्ष के पहले पांच देशों ने अपनी पिछले साल की स्थिति बरकरार रखी। अमेरिका अब भी कारोबारियों को लुभाने वाले माहौल के कारण सबसे सशक्त ब्रांड बना हुआ है। जर्मनी को अपने यहां की दिग्गज कार कंपनी फॉक्सवैगन के उत्सर्जन घोटाले की वजह से नुकसान उठाना पड़ा है।

अतुल्य भारत का चला जादू

ब्रांड फाइनेंस की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत के “इनक्रेडिबल इंडिया” यानी अतुल्य भारत के नारे का जादू दुनिया में सर चढ़कर बोल रहा है। यही कारण है कि भारत की ब्रांड वैल्यू में 32 फीसद की वृद्धि दर्ज हुई, जो सूची में शामिल 100 देशों में सबसे तेज बढ़त है। ब्रिक्स (ब्राजील, भारत, रूस, चीन और दक्षिण अफ्रीका) में अकेला भारत ही ऐसा मुल्क रहा, जिसकी ब्रांड वैल्यू बढ़ी है। बाकी चारों देशों की वैल्यू में गिरावट देखने को मिली है। ब्रिक्स देशों में शीर्ष पर मौजूद चीन की ब्रांड वैल्यू एक फीसद घटी है।

सूची में शीर्ष पर

रैंकिंग , देश

  • 1. अमेरिका
  • 2. चीन
  • 3. जर्मनी
  • 4. ब्रिटेन
  • 5. जापान
  • 6. फ्रांस
  • 7. भारत

और पढ़ें

Comment Here

Leave a Reply