प्रत्यर्पण संधि का अनुमोदन करेंगे भारत और इंडोनेशिया

ansari_extradition_treaty_02_11_2015छोटा राजन को इंडोनेशिया से भारत लाने की चल रही प्रक्रिया के बीच उप राष्ट्रपति डॉ. हामिद अंसारी ने कहा है कि दोनों देश प्रत्यर्पण संधि का अनुमोदन करने के लिए जरूरी दस्तावेजों का आदान-प्रदान करेंगे। रविवार को जकार्ता जाने के क्रम में पत्रकारों से बात करते हुए उप राष्ट्रपति ने कहा कि 2011 में ही दोनों देशों के बीच प्रत्यर्पण संधि पर हस्ताक्षर हुआ था।

लेकिन इसके अनुमोदन के लिए जरूरी पत्रों का आदान-प्रदान नहीं किया गया, जिससे यह संधि लागू नहीं हुआ। यह महज एक तकनीकी औपचारिकता है, जिसे पूरा कर लिया जाएगा। उप राष्ट्रपति ने भारत और इंडोनेशिया के सदियों पुराने सांस्कृतिक संबंधों का भी हवाला दिया। उन्होंने कहा कि उनकी यात्रा के दौरान आयुर्वेद, सांस्कृतिक आदान-प्रदान और अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में दोनों देशों के बीच सहयोग बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा।

अंसारी ने इस बात पर भी जोर दिया कि दूसरे देशों के साथ भारत अपने हिसाब से संबंध बनाएगा। उन्होंने कहा कि किसी दूसरे देश को संतुलित करने की नीति पर हम नहीं चलेंगे। उप राष्ट्रपति दो देशों की यात्रा के पहले चरण में इंडोनेशिया के दौरे पर हैं। उनकी यात्रा का अगला पड़ाव ब्रुनेई है। और पढ़ें

Comment Here

Leave a Reply