‘मुद्रा और शेयर बाजार की स्थिरता के लिए वैश्विक सुरक्षा तंत्र हो’

arun-jaitley-markandey-katju-52e7c985e3734_exlst

चीन द्वारा अपनी मुद्रा युआन के अवमूल्यन के बाद विश्व भर में आए आर्थिक भूचाल के मद्देनजर भारत ने शनिवार को मुद्रा और बाजार की अस्थिरता को रोकने के लिए वैश्विक सुरक्षा तंत्र की जरूरत पर बल दिया। जी20 के वित्त मंत्रियों की बैठक में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के अंतर्गत बेहतर डिजाइन वाले और तेजी से इस्तेमाल करने योग्य सुरक्षा प्रणाली की मांगी की। इसके तहत जेटली ने सुझाव दिया कि सदस्य देशों के बीच मल्टीलैटरल स्वैप के जरिए तरलता की व्यवस्था मजबूत करने के उपायों की जरूरत हैं। जेटली ने कहा, ‘हाल ही में शेयर बाजारों में देखी गई अस्थिरता और मुद्रा की चाल से बाजार में व्याप्त चिंताओं के समाधान के लिए एक वैश्विक सुरक्षा तंत्र की जरूरत है। मेरा मानना है कि अस्थायी, व्यक्तिगत और प्रतिक्रियात्मक उपायों से सिर्फ सीमित अवधि तक प्रतिकूल प्रभावों को रोका जा सकता है। ये उपाय स्थायी समाधान उपलब्ध नहीं करा सकते। यह सिर्फ वैश्विक नीति के जरिए ही संभव हो सकता है…और पढ़ें

Comment Here

Leave a Reply