मंदी में ग्रेजुएशन करने वाले अधिकांश छात्रों को मिली शीर्ष स्‍तर की नौकरी

HEFCE - न्यूज़ अपडेट 2 अक्टोबर 2015मंदी के दौर में शिक्षा हासिल कर ग्रेजुएट होने वाले छात्र शीर्ष पदों पर नौकरी कर रहे हैं। यह जानकारी नई रिपोर्ट में प्रकाशित की गई है। इंग्‍लैंड की हायर एजुकेशन फंडिंग काउंसिल (HEFCE) के आंकड़े बताते हैं कि मंदी के दौरान ग्रेजुएशन करने वाले हर पांच में से चार छात्र या तो शीर्ष पदों पर नौकरी कर रहे हैं या आगे की शिक्षा हासिल कर रहे हैं।

HEFCE की चीफ एग्जिक्‍यूटिव मेडेलीन एटकिन्‍स ने बताया कि यह देखना वास्तव में उत्‍साहित करता है कि तीन वर्षों के अंदर कैसे स्नातकों ने शुरुआतकी करियर को इतने गतिशील मायनों में विकासित किया। उन्‍होंने बताया कि बिना डिग्रीधारी छात्र की तुलना में एक औसत ग्रेजुएट छात्र पूरे जीवन में करीब एक लाख पाउंड (एक करोड़ रुपए) कमाता है। ओर पढ़े