भारत ने लॉन्च किया पहला स्पेस ऑब्जर्वेटरी एस्ट्रोसैट, US ने भी ली हमारी मदद

भारत ने लॉन्च किया पहला स्पेस ऑब्जर्वेटरी एस्ट्रोसैट, US ने भी ली हमारी मदद

एस्ट्रोसैट PSLV-C30 - न्यूज़ अपडेट 29 सेप्टेंबर 2015

स्पेस से धरती का साइंटिफिक एनालिसिस करने के मकसद से भारत ने सोमवार सुबह 10 बजे अपना पहला स्पेस ऑब्जर्वेटरी एस्ट्रोसैट PSLV-C30 लॉन्च कर दिया। यह लॉन्चिंग अांध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा से की गई है। यहां के सतीश धवन स्पेस सेंटर से इसे छह और इंटरनेशनल कस्टमर सैटेलाइट्स के साथ लॉन्च किया गया। पहली बार अमेरिका किसी सैटेलाइट लॉन्चिंग के लिए भारत की मदद ली।

ऐसा करने वाला दुनिया का चौथा देश
लॉन्चिंग के 22 मिनट के अंदर इसके स्पेस में पहुंचने की बात कही गई। भारत यह स्पेस फैसिलिटी हासिल कर चुके दुनिया के चुनिंदा देशों में शामिल हो गया। भारत से पहले अमेरिका, रूस और जापान ने ही स्पेस ऑब्जर्वेटरी को लॉन्च किया है।
क्या है एस्ट्रोसैट?
इसरो के मुताबिक, स्पेस से सैटेलाइट के जरिए धरती पर होने वाले बदलावों का साइंटिफिक एनालिसिस करना इस मिशन का मकसद है। एस्ट्रोसैट के जरिए अल्ट्रावायलेट रे, एक्स-रे, इलेक्ट्रोमैग्नेटिक स्पेक्ट्रम जैसी चीजों को यूनिवर्स से परखा जाएगा। इसके साथ ही, मल्टी-वेवलेंथ ऑब्जर्वेटरी के जरिए तारों के बीच दूरी का भी पता लगाया जाएगा। सुपर मैसिव ब्लैक होल की मौजूदगी के बारे में भी पता लगाने में भी एस्ट्रोसैट से मदद मिल सकती है। ओर पढ़े 

Comment Here

Leave a Reply