भारत के परमाणु कार्यक्रम के 5 मिथक

150213141539_nuclear_energy_atomic_deal_reactor_5

भारत के परमाणु कार्यक्रम की जानकारी चुनिंदा नौकरशाहों, वैज्ञानिकों और सुरक्षा से जुड़े वरिष्ठ अधिकारियों के पास होती है. इस गोपनीयता से भारत के परमाणु कार्यक्रम के बारे में कई तरह की भ्रांतियां भी हैं.

क्या है भारत के परमाणु कार्यक्रम के बारे में 5 मिथक.

1. भारत के पास भरोसेमंद परमाणु क्षमता है.

2003 में भारत के प्रधानमंत्री कार्यालय ने परमाणु नीति की घोषणा की थी.

इसमें कहा गया कि भारत अपनी सुरक्षा के लिए न्यूनतम परमाणु क्षमता विकसित करेगा.

यह केवल एक दिखावा था, चीन और पाकिस्तान दोनों ही देशों के होते हुए भारत न्यूनतम सुरक्षा विकसित नहीं कर सकता.

चीन के सामरिक महत्व के केन्द्र देश के सुदूर पूर्वी इलाके में है. चीन एक बड़ी परमाणु शक्ति वाला देश है.

इसका मतलब है कि पाकिस्तान के खिलाफ़ भारत को जितनी परमाणु शक्ति की ज़रूरत है, उससे कहीं ज़्यादा ज़रूरत चीन के विरूद्ध है.

लोगों का मानना है कि पाकिस्तान के मुक़ाबले चीन के विरूद्ध भारत को बेहतर तैयारी की ज़रूरत है.

यह भी माना जाता है कि पाकिस्तान के प्रति भारत के लिए मुद्दा न्यूनतम ज़रूरतों का नहीं है…और पढ़ें

Comment Here

Leave a Reply