कनाडा की संसद में तीसरी भाषा होगी पंजाबी

punjabi_language_canada_02_11_2015पंजाबी भी अब कनाडा की संसद की आधिकारिक भाषा बन गई है। अंग्रेजी और फ्रेंच के बाद यह तीसरी भाषा है, जिसे संसद में समान दर्जा प्राप्त हुआ है। मालूम हो, कनाडाई संसद (हाऊस ऑफ कामंस) के लिए गत 19 अक्टूबर को हुए चुनावों में दक्षिण एशियाई मूल के 23 लोगों ने जीत दर्ज की है। इनमें पंजाबी भाषा बोलने वाले 20 सांसद हैं।

हिल टाइम्स ऑनलाइन की रिपोर्ट के अनुसार, पंजाबी नहीं बोल पाने वाले सांसदों में चंद्र आर्य (भारत में पले-बढ़े), गैरी आनंदसांगरी (तमिल) और मरियम मोसेफ (अफगान मूल) हैं। अन्य सभी पंजाबी बोल लेते हैं। इनमें 18 लिबरल पार्टी और दो कंजरवेटिव पार्टी के हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, पंजाबी बोलने वाले नवनिर्वाचित सांसदों में 14 पुरुष और छह महिलाएं हैं। इनमें ओटारियो के 12, ब्रिटिश कोलंबिया के चार, अल्बर्टा के तीन और क्यूबेक प्रांत के एक संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।

कंजरवेटिव पार्टी से सांसद दीपक ओबेराय ने कहा, “संसद में अब इंडो-कनाडाई समुदाय के लोगों की आवाज अच्छी तरह से उठाई जाएगी। सभी दृष्टिकोण से देखा जाए तो यह दक्षिण एशियाई समुदाय की जीत है।” और पढ़ें

Comment Here

Leave a Reply